हिमाचल प्रदेश में चौंका सकती है कांग्रेस, एग्जिट पोल की वजह से भाजपा है टेंशन में - himexpress
himexpress
Breaking News
Breaking News हिमाचल

हिमाचल प्रदेश में चौंका सकती है कांग्रेस, एग्जिट पोल की वजह से भाजपा है टेंशन में

हिम एक्सप्रेस, 24 नवंबर:
गुजरात चुनावों के मद्देनज़र हिमाचल प्रदेश के चुनावों को लेकर जारी होने वाले एग्जिट पोल पर हालाँकि 5 दिसंबर तक रोक लगा दी गई है ताकि गुजरात नतीजों पर असर न पड़े परन्तु सच यह है सभी मीडिया चैनल्स के एग्जिट पोल पूरी तरह से रेडी हैं और 5 तारीख को सभी रिलीज़ भी कर दिए जायेंगे।

Advertisement

बेशक रोक लगने वजह से नतीजे ऑफिशियली जारी नहीं किये गए परन्तु कहीं न कहीं नेताओं को एग्जिट पोल की भनक लग गई है और यह सामने आ रहा है की जैसे बीजेपी एकतरफा जीत के दावे कर रही थी वैसा बिलकुल भी नहीं है। बीजेपी के बड़े बड़े नेताओं और मंत्रिओं की सीट खतरे में बताई जा रही है।

#himachal pradesh

जिसके कारण बीजेपी नेताओ में अंदर खाने घमासान मचा हुआ है और एक दूसरे पर आरोप लगाने शुरू कर दिए हैं।

बीजेपी को लग रहा था कि कांग्रेस में सशक्त नेतृत्व की कमी, केंद्रीय नेताओं का चुनाव प्रचार से दूरी बनाना और गुटबाज़ी बीजेपी को एक तरफा जीत की तरफ ले जाएगी परन्तु ऐसा होता हुआ नज़र नहीं आ रहा है।

#himachal pradesh
मुख्यमंत्री तो खुद स्वीकार कर चुके हैं कि न तो बीजेपी और न ही कांग्रेस के लिए जीत आसान टक्कर कांटे की है और जीत का मार्जिन भी ज्यादा नहीं रहने वाला है।

भाजपा चुनावों से पहले रिवाज़ बदलने का नारा दे रही थी परन्तु इस बार फिर से जनता 5 साल में विदाई के मूड में दिखी है साथ ही कांग्रेस द्वारा प्रमुख मुद्दों को समय रहते लपक लेना फायदा पहुंचा सकता है।
कांग्रेस ने 10 गारंटी में मुख्यता OPS महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों को जोर शोर से उठाया जिससे उसे फायदे की आस है।
भाजपा ने OPS पर जिस तरह ढुलमुल रवैया अपनाया और कांग्रेस ने 2 प्रदेशों में OPS लागू करने सम्बन्धी नोटिफिकेशन्स को बढ़ा चढ़ा कर पेश कर कर्मचारिओं को लुभाने का प्रयास किया और राज्य में कर्मचारिओं के लिए पुरानी पेंशन बहाली एक बड़ा मुद्दा है और जिस तरह से कर्मचारी लगातार आंदोलित और जब सरकार से उम्मीद नहीं रही तो साइलेंट हो गए उससे साफ़ संकेत मिला की कर्मचारी अब बदलाव के पक्ष में हैं

खैर 5 तारीख को जब एग्जिट पोल आएंगे तो कुछ हद तक स्थिति क्लियर दिखेगी परन्तु उसके बाद अगले 72 घंटे से भी कम समय में स्पष्ट हो जायेगा कि रिवाज़ बदलेगा या राज़ बदलेगा।

 

Related posts

कंपनी में क्यों लिए जा रहे हैं नौकरी देने के पैसे

Sandeep Shandil

अब एमबीबीएस डिग्री धारकों के लिए भी सरकारी डाक्टर बनना आसान नहीं,

Sandeep Shandil

प्रधानमंत्री के मंडी दौरे को लेकर धर्मपुर भाजपा की बैठक संपन्न।

Sandeep Shandil

Leave a Comment