himexpress
Breaking News
Breaking Newsऊनाकांगड़ाकिन्नौरकुल्लूचंबाबिलासपुरमंडीलाहुल-स्पीतिशिमलासिरमौरसोलनहमीरपुरहिमाचल

रोजगार के नाम धोखा करती है सरकार -राजीव अम्बिया

आम आदमी पार्टी प्रवक्ता राजीव अम्बिया ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा है कि अब तक कि सरकारें हिमाचल में रोजगार के नाम पर धोखा ही करते आ रहीं है । 2002-03 में पहली बार प्रदेश में आउटसोर्सिंग का चलन चलाया गया ।जिसमें सरकारें अब तक हजारों लाखों पढ़े लिखे बेरोजगारों का डट कर शोषण किया । जिसमें की सरकार ने अपने चहेतों की कम्पनियों को ठेके दे कर आउटसोर्स की कॉमिशनखोरी को को बड़ा दिया । इनके बाद सरकार 2005 में पिछले दरवाजे की नियिक्तियाँ कर लाखों व बेरोज़गार युवाओं के हितों के साथ विश्वासघात किया ।

Advertisement

उसके बाद भाजपा सरकार ने अनुबंध प्रणाली के चलन से रहिसहि कसर पूरी कर दी व बेरीज़गारों का अतिरिक्त तरीके से शोषण किया जाने लगा । इन दोनों सरकारों ने अलग अलग तरीकों से बेरोजगारों को ठगा है फिर इस अनुबन्द प्रणाली को अपने चुनावी मतलब के लिए कम ज्यादा किया ।जो कि अब तक जारी है साथ ही मौजूदा सरकार ने कॉंग्रेस सरकार द्वारा की गई पिछले दरवाजे की नियुक्तियों को नियमित करके लाखों बेरोजगारों की कमर तोड़ कर रख दी ।हाल ही में सरकार ने मल्टीपर्पज वर्कर रख कर अपने शोषण को अतिरिक्त तरीके बड़ा दिया जिनके कोई भी अब तक निश्चित पालिसी नही बताई। इन दोनों सरकारों ने अपनी मनमर्जी कर लोगों के हितों दरकिनार कर अपने राजनीतिक फायदे के लिए सूबे की जनता के साथ धोखा किया है। आम आदमी पार्टी प्रबक्ता ने सीधे प्रश्न करते हुए पूछा है कब तक दोनों सरकारें इस तरह जनता के साथ धोखा करती रहेंगी ।


आम आदमी पार्टी जनता को आश्वस्त करना चाहती है कि आने वाले चुनावों के बाद अगर 2022 में हिमाचल आम आदमी पार्टी की सरकार बनती है तो इस तरह की सभी पालिसी को खत्म कर सरकार आमजन के हितों का संरक्षण करके एक ईमानदार सरकार देगी।

राजीव अम्बिया
प्रबक्ता
आम आदमी पार्टी

Related posts

जेबीटी शिक्षिका को हुआ एक लाख जुर्माना, अपने ही शब्द पड़े खुद पर भारी

Sandeep Shandil

जम्मू-कश्मीर से लगते चंबा के बॉर्डर की हर गतिविधि पर पुलिस जिला मुख्यालय चंबा से नजर रखेगी जायेगी, 114 सीसीटीवी लगे

Sandeep Shandil

वन विभाग ने अवैध शिकार रोकने के लिए कसी कमर वनमंडलाधिकारी कार्यालय धर्मशाला ने किया 18 टास्क फोर्स टीमों का गठन ।

Sandeep Shandil

Leave a Comment